Thu. May 28th, 2020

Mathura : माँट से मासूम पर किया ज़ुल्म ! मासूम बच्चे को ट्रैक्टर के सामने फेंकने का किया प्रयास

1 min read

मथुरा -माँट इलाके के यमुना खादर मे राजस्व टीम के साथ जमकर अभद्रता ,ट्रैक्टर चालक को कब्जा धारी ने पीटा ,मासूम बच्चे को ट्रैक्टर के सामने फेंकने का किया प्रयास ,तीन लोगों को पुलिस ने लिया हिरासत में।

आसामी पट्टे से कब्जा हटवाने गई थी पुलिस…

आपको बता दें तहसील माँट इलाके के माँट राजा का रहने वाले बीरी सिंह

का यमुना खादर मे 3 एकड़ जमीन पर कब्जा था, कब्जा धारी बीरी सिंह यमुना खादर की जमीन पर अपना आसामी पट्टा बताता था ,लेकिन राजस्व टीम के अनुसार व पट्टा पूर्व में कैंसिल हो चुका है ,बीरी सिंह को राजस्व टीम द्वारा कई बार जमीन से कब्जा हटाने की बात की गई थी, लेकिन बीरी सिंह राजस्व टीम की बातों को अनदेखा करता रहा,

 


आज ए आर ओ राजीव उपाध्याय अपनी राजस्व टीम और पुलिस बल के साथ खादर की 3 एकड़ जमीन को खाली करवाने के लिए पहुंचे ,

बताया जा रहा है कि खादर की 3 एकड़ जमीन में कब्जाधारी ने गेहूं और सरसों की बुवाई कर दी थी ,जैसे ही राजस्व टीम ट्रैक्टर से उस जमीन को जुताई कराने लगी तभी कब्जा धारी और उसके घर वाले राजस्व टीम और ट्रैक्टर चालक पर हावी हो गए ,और घटनास्थल पर जमकर हंगामा किया ,वहीं ट्रैक्टर चालक की भी जमकर पिटाई कर डाली ,कब्जा धारी ने अपने मासूम बच्चे को ट्रैक्टर के सामने फ़ैकने का प्रयास किया …

पुलिस ने कब्जा धारी बीरी सिंह सहित तीन लोगों को हिरासत में लेकर जेल भेज दिया है ,

लेकिन सूत्रों की माने तो यह एआरओ राजीव उपाध्याय की भूमिका पूरे मामले में संदिग्ध दिखाई दे रही है, इलाके में और भी आसामी पट्टे की जमीन है , उन्हें खाली नहीं कराया जा रहा ,

ट्रैक्टर बाला वह व्यक्ति बताया जा रहा है जो ए आर ओ राजीव उपाध्याय से सांठगांठ कर उस जमीन का पट्टा लेने के फिराक में मैं है, उसी से गुस्सा कर कब्जा धारी बीरी सिंह ने ट्रैक्टर चालक पर हमला और राजस्व टीम के साथ बदसलूकी की थी ,आज राजस्व टीम ने 3 एकड़ भूमि को कब्जा मुक्त करा लिया…

राजस्व टीम की लापरवाही सामने आ रही है ,जिस व्यक्ति से कब्जा धारी का झगड़ा चल रहा था ,उसी व्यक्ति को राजस्व टीम ट्रैक्टर लेकर खेत में गई, यह भी राजस्व टीम की कार्यशैली पर सवाल खड़े करता है, कहीं न कहीं जमीन पर दंगा फसाद कराने के मूड में राजस्व टीम थी ,

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *